कटनी : एक बार फिर मिड-डे मील सुर्खियों में है, आंगनवाडियों में मासूम बच्चों की सेहत के खिलवाड़ किया जा रहा था. बच्चों को परोसे जा रहे आहार में  छिपकली भी परोस दी गई. 
 
बच्चों को खाने में खिचड़ी दी गई जिसमें छिपकली थी, इस आहार को खाने से दो दर्जन बच्चों की हालत काफी बिगड़ गई जिससे पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. इस विष पोषण आहार को सेवन करने से एक बच्चे की हालत काफी गंभीर हो गई है, जिससे तुरंत सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. ये मामाला कटनी जिले के विजयराघवगढ़ तहसील क्षेत्र अंतर्गत ग्राम गुड़ेहा का है. इस मामले के सामने आते ही शिक्षा विभाग और प्रशासनिक अधिकारी मामले की जांच में जुट गए हैं.
 
 
हर दिन की तरह आज सुबह भी आंगनवाड़ी केंद्र खुला और तय समय पर कृष्णा स्वसहायता समूह की संचालक सुनीता सिंह ने बच्चों को आहार में खिचड़ी परोसी गई. बच्चों ने जैसे ही इस खिचड़ी को खाना शुरू किया उन्हें चक्कर आने लगे और इतने में पास बैठे दूसरे बच्चे ने खाने में छिपकली देखी तो उसने इस बात की सूचना आंगनवाड़ी की सहायिका को दी.
 
इस केंद्र में कुल 21 बच्चे थे. जैसे ही अपने साथियों की तबियत बिगड़ते हुए अन्य बच्चों ने देखा उन्होंने खाना खाने से इंकार कर दिया. स्थानीय लोगों ने इस लापरवाही की शिकायत कलेक्टर विशेष गढ़पाले से की जिसके बाद उन्होंने अधिकारियों को तुरंत मामले की जांच करने के आदेश दे दिए. बताया जा रहा है कि भोजन खाने से जिस बच्चे की तबियत बिगड़ी उसका नाम केंद्र में दर्ज नहीं है वह अन्य बच्चों के साथ वहां पहुंचा था.
 
 
गौरतलब है कि इससे पहले दिल्ली से सटे फरीदाबाद के एक सरकारी स्कूल में उस वक्त हड़कंप मच गया जब मिड-डे मील में सांप पाया गया.