भोपाल: मध्यप्रदेश में भाजपा एक बार फिर से विवादों में आ गई है. यहां की पुलिस की सायबर सेल ने ऑनलाइन सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में बीजेपी के प्रदेश मीडिया प्रभारी समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसके पार्टी की मुश्किलें बढ़ गई हैं. 
 
प्रदेश के साइबर सेल मुख्यालय ने इस हाईटेक सैक्स रेकेट गिरोह का पर्दाफाश किया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी नेता अश्लील वेबसाइट के जरिए लड़कियां सप्लाई करने का काम करता है. साइबर पुलिस के मुताबिक गिरोह के सदस्य अश्लील वेबसाइट के जरिए कस्टमर की तलाश करते थे और फिर लड़कियों की सप्लाई की जाती थी.
 
इसकी गिरोह का मुखिया अनुसूचित जाति मोर्चे का मीडिया प्रभारी नीरज शाक्य है, जो राजनीति की आड़ में सफलता से अपने धंधे को परवान चढ़ा रहा था लेकिन पोलिस के हत्थे में आने के बाद बीजेपी ने भी उससे किनारा कर लिया है.
 
आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब बीजेपी इस तरह की परेशानी में पड़ी हो इससे पहले बीजेपी अपने अनुशांगिक संगठन भारतीय जनता युवा मोर्चा के भोपाल जिला आईटी सेल संयोजक ध्रुव सक्सेना के एटीएस से पकड़े जाने के बाद परेशानी में फंसी थी. ध्रुव सक्सेना को एटीएस ने आईएसआई के लिए जासूसी करने के आरोप में पकड़ा था. ध्रुव पर आरोप था कि वो एक टेलीफोन एक्सचेंज के जरिये सेना की जानकारियां पाकिस्तान भेज रहा था और इसके लिए हवाला से करोड़ों रूपए पाकिस्तान से भी आ रहा था.
 
इस काण्ड ने बीजेपी के बेहद किरकिरी करा दी थी. इसके बाद बीजेपी ने अपने अल्पसंख्यक मोर्चे के पदाधिकारियों से सद्चरित्र होने के एफिडेविट भी लिए थे. वजह थी साफ चरित्र कें लोगो को संगठन में जगह देना, लेकिन बीजेपी के सारे प्रयास एक बार फिर धरे के धरे रह गए जब एक बार फिर बीजेपी के अनुसूचित मोर्चे का जिम्मेदार पदाधिकारी सेक्स काण्ड में पकड़ा गया. बहरहाल एक बार फिर बीजेपी कांग्रेस के निशाने पर है.