लखनऊ. नोएडा के यादव सिंह अवैध संपत्ति मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं. यादव सिंह नोएडा अथॉरिटी का पूर्व चीफ इंजीनियर है. बताया जा रहा है कि यादव सिंह के पास करीब दस हजार करोड की काली कमाई है. हाईकोर्ट का फैसला अखिलेश सरकार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है, क्योंकि विपक्ष का आरोप है कि इतने बड़े घोटाले में सरकार भी शामिल है.
 
आपको बता दें कि जब इनकम टैक्स ने यादव सिंह के घर छापे मारे तो अफसरों की आंखें फटी रह गई थी. यादव सिंह का घर दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर 51 में है. यादव सिंह के घर से दो किलो हीरे मिले थे.जिनकी कीमत 100 करोड़ बताई जा रही है. यादव सिंह की कार से 10 करोड़ कैश मिले. रियल एस्टेट में उनका भारी-भरकम निवेश है. अनुमान है कि यादव सिंह के पास करीब दस हजार करोड़ की संपत्ति होगी. यादव सिंह नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेसवे अथॉरिटी के चीफ इंजीनियर थे. अब सारे पदों से हटाए जा चुके हैं.