गांधीनगर : सरकारी स्कूलों में बच्चों को मिलने वाला मिड-डे मील हमेशा से ही किसी न किसी कारण से सुर्खियों में रहा है, हाल ही में गुजरात के गांधीनगर जिले के कलोल तालुका के जमला गांव में बच्चों की सेहत के साथ खिलवाड़ होने वाला मामला सामने आया है.
 
बच्चों के होश उस वक्त उड़ गए जब उन्हें पता चला की उन्हें मिलने वाले खाने में एक मरा हुआ चूहा पाया गया है. इस सरकारी प्राइमरी स्कूल में एनजीओ अक्षय पत्र द्वारा प्रतिदिन मिड-डे मिल की सप्लाई की जाती है.
 
न्यूज एजेंसी की पिरोर्ट के मुताबिक, मिड-डे मील के कमिशनर आरजी त्रिवेदी ने बताया की स्कूल में बच्चों को परोसे जाने वाले खाने में से मरा हुआ चूहा निकला है, राहत की बात तो ये हुई की बच्चों को खाने परोसे जाने से पहले ही टीचर्स ने ये देख लिया.
 
उन्होंने आगे बताते हुए कहा की ये ही सप्लायर तीन अन्य स्कूलों में भी खाने को सप्लाई करता है. जिला प्रशासन से रिपोर्ट मांगी गई है और एक बार रिपोर्ट आने के बाद इस मामले में फैसला लिया जाएगा. गौरतलब है की इसे पहले मिड-डे मील में छिपकली, कॉक्रोच और मरे हुए चूहे की शिकायत आ चुकी हैं.