इलाहाबाद.  उत्तर प्रदेश में ऐसा लगता है एंटी रोमियो स्क्वाएड ‘फुर्र’ हो गया है. जब राज्य में योगी सरकार आई थी तो पहले ही दिन से पुलिस ने सड़क पर मनचलों को पकड़ने के लिए तहलका काट दिया था लेकिन अब फिर सब कुछ वैसा ही हो गया है.
मतलब न तो चौराहों पर छोड़िए स्कूलों के सामने भी पुलिसकर्मी नहीं दिखाई दे रहे हैं. इलाहाबाद के एक स्कूल के सामने जब एंटी रोमियो स्क्वाएड के बारे में पड़ताल की गई तो दूर-दूर तक कोई भी पुलिसकर्मी नजर नहीं आया.
वहां मौजूद महिलाओं और लड़कियों ने कहा कि योगी सरकार ने अच्छा काम शुरू किया था लेकिन पुलिस ही ठीक से काम नहीं करना चाहती है.  वहीं स्कूल की लड़कियों ने बताया कि उनकी सुरक्षा के लिए यहां पर सुरक्षा के लिए अध्यापक और अभिभावक ही रहते हैं.
गोरखपुर में भी पुलिस नदारद
सीएम योगी के शहर गोरखपुर में पुलिस का वही रवैया देखने को मिला है. यहां पर इनखबर/इंडिया न्यूज की टीम ने चार-पांच स्कूलों का जायजा लिया तो कोई भी पुलिसकर्मी सादी वर्दी में छोड़िए, वर्दी में भी नजर नहीं आया.
यहां भी छात्राओं ने बताया कि शुरू में कुछ दिन तो पुलिस स्कूल के पास नजर आई लेकिन बाद में सब कुछ फिर वैसी ही हो गया. गोरखपुर जोन के आईजी मोहित अग्रवाल से जब इस मुद्दे पर बात की गई तो उनको कहना था कि एंटी रोमियो स्क्वाएड समय-समय पर कार्रवाई करता है.
अग्रवाल ने कहा कि हमारे अधिकारी हर हफ्ते इस अभियान के तहत स्कूल और कॉलेजों का निरीक्षण करते हैं. पुलिस का उद्देश्य है कि आवारा और मनचलों के मन में डर पैदा हो. आईजी जोन ने आश्वासन दिया कि किसी भी शोहदों को बख्शा नहीं जाएगा.
आगरा की तस्वीर

अलीगढ़ की तस्वीर

गाजियाबाद की तस्वीर