तमिलनाडु: तमिलनाडु के तंजावुर में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. तंजावुर के एक पशु अस्पताल में सांड के पेट से जो निकला है, उसे देख डॉक्टर्स भी हैरान हैं. बताया जा रहा है कि अस्पताल के चिकित्सकों ने एक सांड के पेट से 38.4 किलोग्राम प्लास्टिक बैग और एक एलईडी बल्ब निकाला है. 

दरअसल, इस सांड की हालत काफी दिनों सही नहीं चल रही थी. सांड के भूख न लगने और कमजोरी की शिकायत थी. जिसके बाद डॉक्टरों ने जब इसका ऑपरेशन किया, तो उसके पेट से ये खतरनाक चीजें निकलीं.
 
सांड का मालिक उसके इलाज के लिए उसे बुधवार को वेटर्निटी कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट के टीचिंग वेटरनली क्लीनिकल कंप्लेक्स (टीवीसीसी) लेकर आया था. खास बात ये है कि ये सांड जल्लीकट्टू में भाग ले चुका है. 
 
संस्थान के डॉक्टरों ने जांच में पाया कि बैल काफी तेज दर्द से ग्रसित है और उसकी हालत ऐसी थी कि बिना ऑपरेशन किये, उसे ठीक करना मुश्किल था. जब डॉक्टरों नें इस सांड का ऑपरेशन किया, तो नतीजे चौंकाने वाले थे. ऑपरेशन के बाद सांड के पेट से एक एलईडी बल्ब और 34.8 किलोग्राम पॉलीथीन बैग निकला. इतना ही नहीं, सांड के पेट से सेफ्टी पिन, नाखून और रस्सी तक मिला.  
 
आपको बता दें कि जल्लीकट्टू तमिलनाडू का एक पारंपरिक खेल है, जिसमें सांड का इस्तेमाल किया जाता है. सांडों के साथ बर्बरता को लेकर ये खेल काफी समय से विवादों में घिरा रहा है. इस खेल को वहां के लोग अपनी अस्मिता से जोड़कर देखते हैं.