पटना : आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के परिवार की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. पहले बेटी चंदा यादव के खिलाफ पटना हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई तो अब दोनों बेटों के खिलाफ जनहित याचिका दायर हुई है. 
 
बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव के खिलाफ पटना हाईकोर्ट में संपत्ति के ब्यौरे को लेकर पीआईएल दायर की गई है. याचिका में कहा गया है कि दोनों मंत्रियों ने 2015 में विधानसभा चुनाव के दौरान संपत्ति की गलत जानकारी दी थी. इसके साथ ही इस मामले के लिए सीबीआई जांच की भी मांग की गई है.
 
साथ ही याचिकाकर्ता ने दोनों के निर्वाचन और चुनाव को अवैध बताया है और इसे रद्द करने की मांग की है. बता दें कि लालू के दोनों बेटे पहली बार विधायक बने हैं.
 
बता दें कि इससे पहले भी लालू की बेटी चंदा के खिलाफ पटना हाईकोर्ट में मुख्यमंत्री के सरकारी आवास के पते का गलत इस्तेमाल करने के मामले में जनहित याचिका दायर की गई थी.
 
जनहित याचिका में कहा गया था कि वर्ष 2005 के बाद से ना तो लालू प्रसाद और ना ही श्रीमती राबड़ी देवी मुख्यमंत्री के पद पर थे, लेकिन चंदा मुख्यमंत्री आवास एक अणे मार्ग के पते का इस्तेमाल कर रही थीं.