पौढ़ी गढ़वाल.  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह को बिष्ट को इस समय एक बात बिलकुल नहीं रास नहीं आ रही है.
उनका कहना है कि जब से योगी सीएम बने हैं उत्तराखंड सरकार ने उन्हें भी सुरक्षा दे दी है जिसकी वजह से वह काफी बंधन महसूस करते हैं.
उनका कहना था कि अगर अधिकारियों को लगता है कि उनकी सुरक्षा जरूरी है तो वह इस फैसले का सम्मान करते हैं लेकिन इससे स्वच्छंदता पर पहरा लग गया है.
उनका कहना था कि पहले वह बिना किसी रोक-टोक के किसी से भी मिल सकते थे और कहीं भी चले जाते थे लेकिन अब ऐसा करने में दिक्कत है.
हालांकि आनंद सिंह बिष्ट के चेहरे में बेटे के सीएम बनने की खुशी साफ देखी जा सकती है. उन्होंने योगी की तारीफ करते हुए कहा कि वह बचपन से कुशाग्र थे और उनके अंदर लीडरशिप थी.
जब उनसे पूछा गया कि योगी से मिलने लखनऊ कब जाएंगे तो उनका कहना था कि फोन पर दो बार हुई थी. हालचाल लेने के बाद योगी ने कहा कि वह बताएंगे कि लखनऊ कब आना है.
आपको बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ का जन्म पौढ़ी गढ़वाल जिले के पंचूड़ गांव में हुआ था. बीएससी करने के बाद योगी ने संन्यास ले लिया था और अब खास मौकों में ही योगी अपने घर आते हैं.
योगी के दो भाई भी हैं जो इस गांव में रहते हैं. पांच बार सांसद रहे योगी आदित्यनाथ का परिवार बहुत ही साधारण है. जब वह उत्तर प्रदेश के सीएम बनाए गए तो पूरा मीडिया उनके गांव पहुंच गया था.
उस समय एक निजी न्यूज चैनल से बातचीत में योगी के पिता ने कहा था कि वह अपने बेटे को समभाव और मुस्लिम के साथ अच्छा व्यवहार करने की सलाह देते हैं. उनके इस बयान को चैनलों ने उस दिन की हेडलाइन बनाया था.