पटना: लगता है इस बार बिहार भाजपा के नेता सुशील कुमार राजद सुप्रीमो लालू यादव से आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं. लालू यादव पर सुशील मोदी ने एक बार फिर से नए आरोप लगाकर हमला किया है. अभी मिट्टी घोटाले के आरोप से लालू की परेशानी कम भी नहीं हुई थी कि अब खबर ये आ रही है कि सुशील मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दस्तावेजों के साथ ये आरोप लगाया है कि लालू के परिवार ने एक कंपनी और जमीन पर कब्जा जमा रखा है. 

लालू यादव और उनके परिवार पर आरोप लगाते हुए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार ने कहा कि बिहार में शराब फैक्ट्री लगाने देने के बदले लालू परिवार ने करोड़ों की जमीने अपने नाम करा ली. इस मौके पर सुशील मोदी ने कहा कि जिस कंपनी पर लालू परिवार का मालिकाना हक बताया जा रहा है, उस कंपनी का गठन 26 सितंबर 2006 को ही इन्फोसिस्टम नाम से किया गया था. उन्होंने दावा किया कि इस कंपनी के मालिक अमित कात्याल थे.
 
ये भी पढ़ें:
 
सुशील मोदी ने आरोप लगाया कि शराब फैक्टी लगवाए जाने के बदले ही कंपनी के मालिक अमित ने बिहार के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री सहित लालू परिवार के अन्य लोगों को कंपनी का निदेशक बना दिया था. 
 
सुशील मोदी ने दावा करते हुए कहा कि पहले इस कंपनी में लालू परिवार के किसी भी व्यक्ति का शेयर नहीं था, मगर अचानक ही इस कंपनी में इस परिवार का मालिकाना हक बन गया. इस कंपनी में तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, श्वेता यादव, रागिनी यादव निदेशकर और शेयर होल्डर हैं. उन्होंने कहा कि ये सभी अचानक ही हुआ है.
   
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मोदी ने लालू पर निशाना साधते हुए पूछा कि आखिर मात्र 55000 रुपये का निवेश कर लालू परिवार के मालिकाना हक वाली कंपनी अचानक से कैसे इतने करोड़ों की जमीनें खरीद लीं. साथ ही उन्होंने ये भी पूछा कि आखिर इन्फोसिस्टम कंपनी के मालिक अमित कात्याल ने लालू के परिवार को ही क्यों कंपनी के सारे शेयर ट्रांसफर कर दिये. उन्होंने साफ आरोप लगाया कि ये सब इसलिए हुआ है क्योंकि लालू ने इस बीयर-शराब फैक्टी को फायदा पहुंचाया, जिसके बदले में कंपनी ने इनके परिवार को निदेशक बना दिया. 
 
ये भी पढ़ें: 
 
सुशील मोदी ने लालू प्रसाद यादव को इस पूरी प्रॉपर्टी के बारे में सारे तथ्य उजागर करने को कहा है. मोदी ने कहा कि अगर लालू यादव ने ऐसा नहीं किया, तब वह खुद उजागर कर देंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि यह प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट का उल्लंघन है.
 
गौरतलब है कि इससे पहले सुशील मोदी ने मॉल के मिट्टी घोटाले का आरोप भी लगाया था. पिछले कुछ दिनों से सुशील मोदी लालू पर लगातार हमले कर रहे हैं. पहले मिट्टी और अब जमीन घोटाले ने लालू की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. आपको बता दें कि लालू के दोनों बेटों ने बिहार विधानसभा के नतीजे आने के अगले ही दिन कंपनी के निदेशक पद  से इस्तीफा दे दिया था.