चंडीगढ़: एक ऐसा नहर जो उगलता है लाशें, ये बातें दिलदहला देने वाली जरूर हैं और किसी भूतिया फिल्म की कहानी से कम नहीं है लेकिन ये आखों देखी सच घटना है. रिपोर्ट्स के मुताबिक नरवाना में भाखड़ा की सिरसा ब्रांच में नहर से एक या दो नहीं बल्कि एक दर्जन लाशें मिली हैं.

फिलहाल ही ये खबर फैलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. लेकिन इस पूरी घटना ने बहुत सारे सवाल खड़े किए है . जैसे ये लाशें आई कहां से और किसकी हैं ये लाशें इनकी हत्या की है या आत्महत्या की. ये सारी बातें नरवाना पुलिस के लिए जंजाल बन गई है.

सुत्रों के मुताबिक सवेरे से सफाई चल रही थी. इस दौरान एक सदस्य को शव मिला. फिर एक के बाद एक शव मिलते चले गए. शव गले सड़े हैं और उनसे काफी बदबू आ रही है. नरवाना सदर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शवों को कब्जे में ले लिया है.

फिलहाल गोताखोरों की एक टीम नहर तलाश रही है. शवों की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं. वहीं जैसे ही आसपास के इलाकों में लाशें मिलने की बात फैली तो लापता लोगों के संबंधी पहचान के लिए वहां पहुंचने लगे हैं. अक्सर हिमाचल और पंजाब से बहे शव इस नहर से मिलते हैं.

ये नहर नंगल, ऊना, तलवाड़ा, नालागढ़, बद्दी, आनंदपुर साहिब, कीरतपुर, भरतगढ़, रोपड़, मोरिंडा, फतेहगढ़ साहिब, सरहिंद, पटियाला, समाना, घग्गा, पातड़ां, खनौरी से नरवाना होते हुए हिसार में जाती हैं.दरअसल सिरसा ब्रांच नहर की सफाई का काम चल रहा है, जिसके चलते पानी का लेवल कम कर दिया गया और जब पानी कम हुआ तो देखा कि इसमें लाशें पड़ी हैं.

बता दें कि लाशें इतनी गली सड़ी हैं कि इनकी शिनाख्त नहीं की जा सकती. गोताखोर के अनुसार कुछ लाशों के हाथों में कड़े हैं, जिनसे अंदाज लगाया जा रहा है कि ये लाशें सिख लोगों की हैं. फिलहाल सभी डेड बॉडीज को नरवाना के नागरिक अस्पताल में रखवा दिया गया है और पुलिस नहर में सर्च ऑपरेशन के साथ-साथ मामले की जांच की कड़ी आगे बढ़ाने में लगी है.