तिरुवनंतपुरम. केरल में आवारा कुत्तों का आंतक इस कदर छाया हुआ है कि मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने इस मुद्दे से निपटने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई है. चांडी ने मंगलवार को राज्य विधानसभा को बताया कि सर्वदलीय बैठक में राज्य में आवारा कुत्तों के आतंक पर चर्चा की जाएगी और इस मुद्दे पर नौ जुलाई को फैसला किया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने सरकार के मुख्य सचेतक थॉमस उन्नियादन द्वारा लाए गए प्रस्ताव का जवाब देते हुए यह बात कही. उन्नियादन ने ही विधानसभा में इस मुद्दे को उठाया था. उन्नियादन ने कहा, “रपटों के मुताबिक, पिछले साल आवारा कुत्तों ने राज्य में लगभग 90,000 लोगों को काट लिया था. ऐसे भी कुछ जानवर प्रेमी हैं, जो कहते हैं कि कानून के मुताबिक आवारा कुत्तों को मारा नहीं जा सकता.”

उन्नियादन ने हाल ही में राज्य के बजट की ओर इशारा करते हुए कहा था कि रेबीज के टीके के लिए 7.23 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की गई है. चांडी ने कहा कि आवारा कुत्तों का आतंक समाप्त करने के नियम हैं और यहां तक कि केरल उच्च न्यायालय ने 2006 में इस दिशा में एक आदेश जारी किया था.

IANS