लखनऊ: उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही दिन से एक्शन में नजर आ रहे हैं. उन्होंने सभी वरिष्ठ अधिकारियों को ये सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि दिसंबर तक राज्य के सभी तीस जिले में खुले में शौच बंद हो जाना चाहिए. 
 
राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देश में सभी अधिकारियों को स्वच्छता पर खास ध्यान देने का आदेश दिया है. प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को आगे बढ़ाते हुए सीएम आदित्यनाथ ने कहा कि सफाई के मामले में यूपी अन्य राज्यों के मुकाबले काफी पीछे है. उन्होंने कहा कि शहरी और ग्रामीण इलाकों में सफाई कर्मचारियों के होते हुए भी सफाई की कमी है.
 
आदित्यनाथ कैबिनेट में मंत्री सिद्धार्थ नाथ ने कहा कि सीएम ने सभी अधिकारियों को 30 दिसंबर तक सभी जिलों में खुले में शौच बंद कराने का आदेश दिया है और इस काम को युद्ध स्तर पर करने का निर्देश दिया है.
 
इसके अलावा सीएम ने कहा है कि पुलिस थाना और तहसीलदार दफ्तर राजनीतिक दवाब में नहीं आने चाहिए. साथ ही हर विभाग में सिजिजन चार्टर होना चाहिए ताकि जनता का काम समय सीमा में किया जा सके.