श्रावस्ती : उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती जिले में शनिवार शाम को दो युवतियां के शव मिले हैं और उनके साथ रेप किए जाने की आशंका है. ये दोनों युवतियां बहनें बताई जा रही हैं. 
 
श्रावस्ती जिले के इकौना थाना क्षेत्र में 18 मार्च को भोजपुर गांव के पास राप्ती नदी के कछार में शौच के लिए गए ग्रामीणों को दो युवतियों के शव पड़े मिले. शव मिलने की सूचना पाकर आनन फानन में मौके पर पुलिस के साथ उच्च अधिकारी भी पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. 
 
लोगों की थी लड़कियों को हटाने की बात
बता दें कि घटनास्थल के पास के ही गांव की दो सगी बहनें आंचल(19) और ज्योति(15) 14 मार्च को घर से उस समय रहस्यमय तरीके से गायब हो गयी थीं जब पास के गांव के ही दो लोग उनके घर आये थे. 
 
 
घर आए लोगों ने युवतियों की मां से बच्चियों को हटाने की बात कही थी. तभी से दोनों सगी बहनें लापता हो गई थीं. जब दो युवतियों के शव मिलने की सूचना इलाके में फैली तो लोगों ने उनकी पहचान आंचल और ज्योति के रूप में की. बाद में शवों को पोस्टमार्टम के बाद कब्जे में लेकर घरवालों ने उनका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया.
 
पुलिस पर लापरवाही का आरोप
इस मामले में पीड़ित परिवार पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहा है. वहीं, गांव के ही दो लोगों पर रेप और हत्या करने का आरोप लगाया है. सूत्रों की मानें तो दुराचार या गैंग रेप के बाद दोनों युवतियों की हत्या कर शव को फेंक दिया गया. 
 
पीड़ित पिता जनार्दन तिवारी अपने लड़के विष्णु तिवारी के साथ दिल्ली में रहकर मेहनत मजदूरी करते हैं. दोनों लड़कियों के गायब होने की सूचना पाकर पिता और भाई घर लौट आए थे. 
 
 
इसके बाद 17 मार्च को इसकी सूचना पुलिस को दी गई. इसी के दूसरे दिन 18 मार्च की रात में युवतियों के शव बरामद हुए. रविवार का पूरा दिन पोस्टमार्टम में निकल गया और देर रात शव को लाकर अंतिम संस्कार कर दिया गया. पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है. साथ ही सवाल ये भी उठ रहा है कि कुछ लोगों के घर आने के बाद से ही लड़कियां गायब क्यों हो गईं.