पटना. बिहार विधान परिषद की स्थानीय निकाय कोटे की 24 सीटों के लिए मंगलवार को सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हो गया. एनडीए में शामिल रामविलास पासवान की पार्टी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने नालंदा सीट से रंजीत डॉन को चुनाव मैदान में उतारा है. रंजीत डॉन वही शख़्स हैं जिन पर मेडिकल, इंजीनियरिंग और कई परीक्षाओं के पेपर लीक कराने का आरोप है. 

पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी के नाम पर वोट मांग रहे रंजीत डॉन के खिलाफ सीबीआई का मुक़दमा चल रहा है. इन्हीं आरोपों में वो डेढ़ साल तक जेल में भी रह चुके हैं. इससे पहले 2010 में रंजीत डॉन ने लोक जनशक्ति पार्टी के टिकट से विधानसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन वह हार गए थे. 

सीबीआई ने 2003 में कैट परीक्षा पेपर लीक होने के मामले में रंजीत डॉन को गिरफ्तार किया था. ऑल इंडिया प्री मेडिकल प्री डेंटल परीक्षा 2003 के प्रश्न पत्र लीक होने के मामले में भी डॉन का नाम आया था. उस समय केंद्र में वाजपेयी सरकार थी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज स्वास्थ्य मंत्रालय का जिम्मा संभाल रही थीं.  

बिहार विधान परिषद की 24 सीटों पर मतदान

बिहार निर्वाचन आयोग के अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी आऱ लक्ष्मणन ने बताया कि मतदान के लिए राज्य में 534 केंद्र बनाए गए हैं. इस चुनाव में एक लाख 38 हजार 904 मतदाता 152 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे.

इन 24 सीटों के लिए स्थानीय निकायों के निर्वाचित सदस्य मतदान कर रहे हैं। मतगणना 10 जुलाई को होगी. इस चुनाव में गोपालगंज में सबसे कम दो प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं, जबकि सहरसा में सबसे अधिक 14 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.