नई दिल्ली : पूर्व क्रिकेटर और पंजाब के नए पर्यटन मंत्री बने नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर से चर्चाओं में आ गए हैं. सिद्धू ने सोनी एंटरटेनमेंट चैनल पर आने वाले शो ‘कॉमेडी नाइट्स विद कपिल’ का हिस्सा बने रहने का फैसला किया है. उनके फैसले पर विवाद हो गया है. 
 
नवजोत सिंह सिद्धू ने गुरुवार को पंजाब के स्थानीय प्रशासन और पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री के तौर पर शपथ ली थी. शो में शामिल रहने को लेकर सिद्धू ने कहा, ‘अगर मुझे समस्या नहीं है तो आप लोग क्यों चिंता कर रहे हो. अगर मुझे शो करना होगा तो मैं यहां (पंजाब) से तीन बजे निकलूंगा और सुबह किसी के भी उठने से पहले वापस आ जाउंगा.’
 
 
कांग्रेस के नेता नाखुश
हालांकि, सिद्धू के इस फैसले से कांग्रेस में ही कई नेता नाखुश हैं. दरअसल, सिद्धू शो में जाने के लिए पैसे भी लेते हैं. ऐसे में कांग्रेस को डर है कि विधायक के तौर पर सिद्धू को लेकर ‘लाभ के पद’ का मुद्दा उठाया जा सकता है. कांग्रेस को डर है ​कि इसे लेकर चुनाव आयोग और पंजाब के गवर्नर को शिकायत न कर दी जाए. 
 
हालांकि, कानून के मुताबिक लाभ का पद किसी सरकारी पद को माना जाता है. अगर भारतीय संविधान के अनुच्छेद 102 (1)(क) के मुताबिक कि कोई व्यक्ति संसद के किसी सदन का सदस्य चुने जाने के लिए और सदस्य होने के लिए अयोग्य होगा अगर वह भारत सरकार के या किसी राज्य की सरकार के अधीन कोई लाभ का पद धारण करता है.