वडोदरा: गुजरात के हरिधाम सोखडा, स्वामिनारायन संप्रदाय के स्वामी सुग्नेय स्वामी पर बलात्कार का सनसनीखेज आरोप लगा है. इस आरोप के बाद सुग्नेय स्वामी उर्फ नीलकंठ पटेल भगवा वस्त्रों का त्याग करके अपने परिवार के साथ गायब हो चुके है.
 
एक बार फिर गुजरात में स्वामीनारायण सम्पद्राय के साधु के ऊपर शारीरिक दुष्कर्म का आरोप लगा है. इस बार आरोप है हरिधाम सोखडा के स्वामी सुग्नेय के पर. सुग्नेय स्वामी वडोदरा के पास स्थित सोखडा हरिधाम के संत है. कनाडा के टोरंटो स्थित मंदिर में जब उन्हें भेजा गया था तब 30 वर्षीय महिला ने उन पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है. टोरेन्टो पुलिस के मामला दर्ज करने से पहले यह स्वामी कनाडा से भारत लौट आया और बाद में अपने परिवार के साथ लापता हो चुका है.
 
युवती से मुलाकात
रिपोर्ट् के मुताबिक करीब बीस साल पहेले नीलकंठ हर्षदभाई पटेल नामक युवा ने दीक्षा ली थी और संसार का त्याग करते हुवे बचपन में ही भगवा वस्त्र धारण कर लिए थे. दीक्षा के बाद नीलकंठ को सुग्नेय स्वामी का नाम मिला था. बाद में उसे कनाडा के टोरेन्टो में स्थित स्वामीनारायण मंदिर में सेवा के लिए भेज दिया गया. इस मंदिर में सुग्नेय स्वामी की मुलाकात 30 वर्षीय गुजराती युवती से हुई जो अपने निजी कारणों के चलते दुखी थी और मंदिर में अक्सर भगवान स्वामीनारायण के दर्शन के लिए आती थी. 
 
बलात्कार
यहां पर उसकी मुलाकत इस सुग्नेय स्वामी से हुई है और 30 दिसम्बर 2016 के दिन सुग्नेय ने हरिप्रसाद स्वामी के दर्शन के बहाने उसे अपने पास मंदिर में बुलाया और खुद के कमरे में ले जाकर उसके साथ बलात्कार किया. इस घटना के बाद बदनामी के डर से पीडिता ने अपने परिवारजनों को भी यह बात नही बताई, लेकिन सुग्नेय स्वामी यहीं नहीं रुका और उसे अश्लील मैसेज के जरिए परेशान करने लगा. जब पीड़िता ने यह सारी बातें अपने परिवारजनों को बताई तब उन्होंने कनाडा में इस मामले की एफआईआर दर्ज करवाई. लेकिन तब तक सुग्नेय स्वामी अपने घर वापस लौट चुका था.
 
घटना है सही
पीड़िता ने बताया कि सुग्नेय स्वामी ने मेरे साथ मंदिर में एक रात बिताई थी. मंदिर में जाने के डायरेक्शन भी मुझे स्वामी ने दिए थे उसके मैसेज भी मेरे पास है. उन मैसेज की तारीख और समय भी है. उन्होंने मुझे उनके घर के फोटोज भी भेजे. यह सारी बातें टैंगो एप पर हुई है. यह बात सच है और यह घटना सच में हुई है.
 
वहीं गुजरात के सोखडा स्थित मंदिर के साधू अब सुग्नेय से पल्ला झाड़ रहे हैं. सुग्नेय स्वामी का घर नडियाद जिले के आसोदर में है वहां के घर पर भी ताला लग चुका हैं.