नई दिल्ली. आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि अगर बापू नहीं झुकते तो देश का विभाजन नहीं होता. इंद्रेश के इस बयान पर कांग्रेस सहित कई पार्टियों ने कड़ा एतराज जताया है. इंद्रेश कुमार वही नेता हैं जिन्होंने बीत दिनों ही मुसलमानों को इफ्तार पार्टी दी थी. आपको बता दें कि अजमेर ब्लास्ट के अहम आरोपी भरत भाई ने एटीएस के सामने दावा किया था कि आरएसएस से जुड़े सुनील जोशी की हत्या के पीछे इंद्रेश कुमार का ही हाथ था.
  
विपक्ष ने लिया आड़े हाथों
 इंद्रेश के बयान पर कांग्रेस सहित सेकुलर समझे जाने वाली सभी पार्टियां बिफर गई हैं. कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इंद्रेश पर हमला करते हुए कहा, “कम से कम आप उनके विचार से सीख नहीं सकते हैं तो अपनी अंतरात्मा में झांके, आपको गांधी और आरएसएस का अंतर समझ में आ जाएगा.” कांग्रेस ने आगे कहा, “आप कितनी बार भी गांधी जी को बेइज्जत करें, गांधी जी इतने बड़ें हैं कि उनपर आंच नहीं आ सकती.”
 
कांग्रेस नेता पीसी चाको ने कहा कि इंद्रेश का बयान निंदनीय है और गांधी जी कभी भी देश के बंटवारे के हक में नहीं रहे. बलौक चाको बंटवारे से जिस शख्स को सबसे ज्यादा सदमा पहुंचा वह गांधी थे. एनसीपी नेता मजीद मेमन का कहना है कि वे नहीं समझ पा रहे हैं कि आज इस मुद्दे पर क्यों बात हो रही है. उन्हें तो व्य़ापम की सच्चाई जाननी है.
 
एसपी नेता प्रमोद तिवारी ने इंद्रेश के बयान की निंदा करते हुए कहा कि उन्होंने ऐसा कहकर राष्ट्रपिता का अपमान किया है. एनसीपी नेता तारिक अनवर का कहना है कि आरएसएस की आदत है कि वे गांधी को निशाना बनाते हैं. एसपी नेता गौरव भाटिया का कहना है कि ये लोग गांधी के बारे में कुछ भी नहीं जानते और आज गांधी के बारे में ऐसी बातें कह रहे हैं.

एजेंसी