भोपाल. व्यापमं घोटाले की रिपोर्ट कर रहे टीवी पत्रकार अक्षय सिंह की मौत के मामले पर मध्य प्रदेश के मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बेहद संवेदनहीन बयान दिया. जब मीडिया ने कैलाश विजयवर्गीय से पत्रकार की मौत पर सवाल किए तो उन्होंने संवेदनहीनता की हदें पार करते हुए ठहाके लगाए और कहा कि पत्रकार-वत्रकार छोड़ो, हमसे बड़ा पत्रकार है क्या?

आश्चर्य की बात यह है कि मंत्री जी जब पत्रकार की मौत का मजाक बना रहे थे तब सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी उनके साथ थे और मंत्री के बयान के बाद उनके चेहरे पर भी हल्की हंसी आ गई. बयान पर विवाद के बाद कैलाश विजयवर्गीय ने सफ़ाई दी है, उन्होंने कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है. आपको बता दें कि व्यापमं घोटाले से जुड़े 44 आरोपियों की अब तक मौत हो चुकी है.