रांची: चुनावों में लोग अपना बहुमत देकर एक अच्छी सरकार बनाने के लिए नेताओं को चुनते हैं. चुनाव में जीत हासिल करने के बाद इन नेताओं के तेवर किस कदर बदल जाता है ऐसा झारखंड के मुख्यमंत्री के बर्ताव से साफ जाहिर हो गया है.
 
झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास एक बेबस इंसान पर सिर्फ इसलिए भड़क गए क्योंकि वो इंसाफ की गुहार लगाने उनसे मिलने पहुंचा था. अपनी बेटी के लिए इंसाफ मांगने आए शख्स पर रघुवर दास इतने गुस्सा हो गए कि भरी सभा में उसे कार्यक्रम से बाहर निकाल दिया. रिपोर्ट्स के मुताबिक इस शख्स की बेटी ने आत्महत्या कर ली थी. इस सिलसिले में इंसाफ की गुहार के लिए वह सीएम रघुवर दास से मिलने पहुंचा था.
 
सीएम को आया गुस्सा
दरअसल, सीएम रघुबर दास महिला दिवस के मौके पर बीजेपी महिला मोर्चा के कार्यक्रम में पहुंचे थे. इस दौरान वहां आत्महत्या करने वाली एक लड़की के पिता भी पहुंचे. सीएम को देखते ही वह शख्स रोने लगा और सीएम से इंसाफ की मांग करने लगा. बार-बार गुहार करने पर सीएम को गुस्सा आ गया. जिसके बाद पीड़ित पिता के साथ बुरा बर्ताव करते हुए उस पर राजनीति करने का आरोप लगाया और उस शख्स को कार्यक्रम से बाहर निकालने को कह दिया.
 
मामला
रिपोर्ट्स के मुताबिक बीते गुरुवार रांची में कोचिंग इंस्टीट्यूट के हॉस्टल में छात्रा की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सुसाइड की बात सामने आई है. लेकिन पुलिस जांच में पता चला कि मौत से ठीक पहले वह एक लड़के से बात कर रही थी. जिसके बाद पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर ली है. वहीं पीड़िता के ब्वॉयफ्रेंड से भी पूछताछ की.
 
पिता का आरोप
वहीं पिता का आरोप है कि उसकी बेटी की आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या हुई है और पुलिस अपराधियों के साथ मिली हुई है.