नई दिल्ली. केजरीवाल सरकार के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की फ़र्ज़ी डिग्री विवाद के बाद अब आम आदमी पार्टी की एक और विधायक फर्जी डिग्री मामले में फंसती दिख रही है.

पालम से विधायक भावना गौड़ पर चुनावी हलफनामे में शैक्षणिक योग्यता के बारे में अलग-अलग जानकारी देने का आरोप है. दरअसल, 2013 के चुनावी हलफनामे में भावना गौड़ ने खुद को 12वीं पास बताया था. वहीं, 2015 के चुनावी हलफनामे में भावना गौड़ ने खुद को बीए-बीएड बताया है. ऐसे में सवाल है कि दो साल के अंदर उन्होंने बीए-बीएड कैसे कर लिया? इस मामले पर दिल्ली के द्वारका कोर्ट में अर्जी दाखिल की गई है और अर्जी पर द्वारका कोर्ट ने 25 जुलाई को सुनवाई की तारीख तय की है. 

भावना ने दी सफाई

डिग्री की गलत जानकारी देने के आरोपों पर आप विधायक भावना गौड़ ने सफाई दी है. भावना गौड़ ने अपने समर्थन में अपनी बीए और बीएड की डिग्री मीडिया को दिखाई. भावना ने दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए और महारिशी दयानंद यूनिवर्सिटी से बीएड की डिग्री होने का दावा किया है.