मुंबई. महाराष्ट्र में चार हजार से ज्यादा रेजिडेंट डॉक्टर गुरुवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे हैं. इससे महाराष्ट्र में सरकारी अस्पताल में इलाज करा रहे लाखों मरीजों की मुश्किलें बढ़ सकती है.

राज्य में हडताली डॉक्टर स्टायपेंड बढ़ाने, काम के घंटे तय करने और सुरक्षा की मांग कर रहे हैं. केंद्रीय एमएआरडी के अध्यक्ष ने कहा कि जब तक सरकार डॉक्टरों की मांग नहीं मानेगी तब तक हड़ताल जारी रहेगा. महाराष्ट्र एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स (एमएआरडी) ने मंगलवार को ऐलान किया कि 14 राजकीय और बीएमसी के तीन कॉलेज हड़ताल के दौरान बंद रहेंगे. इससे राज्य में मेडिकल सुविधाएं प्रभावित होंगी.