चेन्नई : कुछ समय पहले तक लग रहा था कि एआईएडीएमके महा​सचिव शशिकला तमिलनाडु के सीएम पद से बस थोड़ी ही दूर हैं. लेकिन, सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने तमिलनाडु की राजनीति में नया मोड़ ला दिया. सुप्रीम कोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में शशिकला को चार साल की सजा सुना दी. 
 
अब शशिकला 10 सालों के लिए राजनीति से बाहर हो गई हैं क्योंकि सजा पूरी होने के बाद भी वह छह सालों तक चुनाव नहीं लड़ सकतीं. लेकिन, जेल जाने से पहले शशिकला ने कुछ ऐसा किया जिससे जेल में रहकर भी पार्टी पर उनका नियंत्रण बना रह सके.
 
दिनाकरन बने नंबर दो
शशिकला ने अपने उन दो भतीजों को पार्टी में वापस ले आईं जिन्हें पार्टी प्रमुख पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता ने साल 2011 में पार्टी से बाहर कर दिया था. पार्टी में लाने के साथ ही शशिकला ने अपने भतीजे टीटीवी दिनाकरन को नंबर दो की जगह देते हुए पार्टी का उप-महासचिव बना दिया. पिछले छह दिनों से विधायकों को जिस रिजॉर्ट में रखा गया था, उसमें दिनाकरण का शानदार स्वागत भी किया गया था.
 
 
शशिकला खुद इस वक्त पार्टी के सबसे तकतवर महासचिव पद पर हैं. बता दें कि साल 2011 में जयललिता ने पार्टी के खिलाफ साजिश रचने के आरोप में शशिकला, उनके पति तथा 12 अन्य संबंधियों को निष्कासित कर दिया था. 
 
इसके पीछे की खबर ये बताई जा रही थी कि शशिकला और उनके परिवार के सदस्य प्रशासनिक निर्णयों और नियुक्तियों में दखल देने लगे थे. यहां तक कि शशिकला को चेन्नई के पोएस गार्डन स्थित जयललिता के आवास से भी जाने के लिए कह दिया गया था. वहां वापस आने के लिए शशिकला को ये वादा करना पड़ा कि वह अपने पति और दिनाकरन सहित परिवार के किसी भी पुरुष सदस्य से संपर्क नहीं रखेंगी. 
 
दिनाकरन की वापसी को ठहराया जायज 
जयललिता के जाने के बाद तमिलनाडु में मुख्यमंत्री पद को लेकर जंग छिड़ गई थी. पन्नीरसेल्वम ने सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद बागी तेवर अपनाते हुए कहा था कि उनसे जबरदस्ती इस्तीफा लिया गया है. इसके बाद विधायकों को पन्नीरसेल्वम के साथ जाने से रोकने के लिए ​चेन्नई के बाहर स्थित एक रिजॉर्ट पर पिछले छह दिनों से विधायकों को रोका गया था. 
 
 
शशिकला को सुप्रीम कोर्ट से सजा सुनाए जाने के बाद विधायकों ने पलनिसामी को विधायक दल का नेता चुन लिया. न्यूज चैनलों से बात करते हुए दिनाकरन ने कहा था कि जब भी पलानीस्वामी को विश्वासमत हासिल हो जाएगा तो विधायक इस होटल से लौट जाएंगे.
 
जयललिता की मृत्यु के दो महीने बाद हो रही दिनाकरन की वापसी को जायज ठहराते हुए शशिकला ने कहा था कि दिनाकरन ने ‘लिखित में भी और व्यक्तिगत रूप से भी माफी मांग ली थी.’ पार्टी मे वापस लाए गए शशिकला के एक और भतीजे हैं डॉ एस. वेंकटेश. फिलहाल पलनिसामी ने आज सीएम पद की शपथ ले ली है और उन्हें 15 दिनों में बहुमत साबित करना होगा.