रामगढ़ : झारखंड के रजरप्पा इलाके में मां छिन्नमस्तिका मंदिर में एक सीआरपीएफ के जवान ने सिर काटकर खुद की बलि चढ़ा दी है. वहीं इस घटना के बाद प्रशासन ने मंदिर में ताला लगा दिया है.  
 
रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार की सुबह जवान ने पहले मंदिर में पूजा की और फिर कटार से सिर को धर से अलग कर दिया. जवान का नाम संजय नट बताया जा रहा है जो कि बक्सर के बलिहार गांव का रहने वाला था. पुलिस के मुताबिक संजय की पोस्टिंग उड़ीसा में थी.
 
 
घटना स्थल को देखकर ऐसा लग रहा है कि वह पहले से ही बलि चढ़ाने के इरादे से मंदिर आया था. उसने खुद की बलि चढ़ाने के लिए ठीक वैसे ही कटार का इस्तेमाल किया जैसा कि मां छिन्नमस्तिका की मूर्ति के हाथ में है. स्थानीय लोगों ने बताया कि मंदिर में प्रवेश करने से पहले भैरवी नहाने गया था. उसके बाद उसने पूजा की और परिक्रमा करने लगा.
 
 
परिक्रमा के दौरान ही वह मंदिर के मुख्य द्वार पर पहुंचा और कटार से गला रेत डाला. जिसके बाद मौके पर ही उसकी मौत हो गई. वहीं संजय के परिवारवालों के मुताबिक उसकी मानसिक स्थिति बिल्कुल ठीक थी और वह पूजा-पाठ में बहुत यकीन करता था.