नई दिल्ली. दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार के पहले बजट से दिल्ली में एक तरफ घर खरीदना और फिल्म देखना महंगा होगा तो दूसरी तरफ फर्नीचर के दाम कम होंगे.

डिप्टी सीएम मनीष सिसौदिया द्वारा पेश बजट में दिल्ली आने वाली डीजल गाड़ियों पर एंट्री टैक्स बढ़ाने का प्रस्ताव है जिसकी वजह से माल ढुलाई का खर्च बढ़ेगा जिसका सीधा असर बाहर से आने वाले सामान के दाम पर दिखेगा. सर्किल रेट बढ़ाने का भी प्रस्ताव सरकार ने रखा है जिससे घर खरीदने के लिए अब ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे.

सिसौदिया ने बजट में मनोरंजन कर को 20 फीसदी से बढ़ाकर 40 फीसदी करने का प्रस्ताव रखा है जिससे फिल्म के टिकट भी महंगे होंगे. सरकार ने डीटीएच और केबल पर 40 रुपए का मासिक एंटरटेनमेंट टैक्स लगाने का भी प्रस्ताव रखा है. जिम, क्लब और स्पा जाना भी खर्चीला होगा.

लकड़ी पर वैट 12 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया है जिससे फर्नीचर सस्ता होगा. मेटल के बर्तन और मोम से बने सामान भी सस्ते होंगे.

दिल्ली सरकार ने 235 करोड़ का स्वराज फंड बनाने का प्रस्ताव रखा है जिस पैसे को मोहल्ला सभा के द्वारा तय काम पर खर्च किया जाएगा. सिसौदिया ने कहा कि यह स्वराज की दिशा में एक यूनिक प्रयोग है.