नई दिल्ली. मुंबई के मालवणी में जहरीली शराब से हुई 102 मौतों के मामले में नया मोड़ आ गया है. दिल्ली-मुंबई पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन के बाद गिरफ्त में आए आरोपी अतीक ने खुलासा किया है कि यह जहरीली शराब गुजरात से तस्करी कर लाई गई थी.

अतीक का कहना है कि उसने 3 ड्रम ज़हरीली शराब गुजरात के वलसाड ज़िले से तस्करी करके मुंबई पहुंचाई थी जबकि शराब बनाने के लिए कच्चा माल राजस्थान से लाया गया था. 

इस केस की तफ्तीश कर रहे अफसर ने दावा किया है कि तस्करी 14 जून को हुई. जहरीली शराब के तीन ड्रम 16 जून को मुंबई के मालवणी इलाके में पहुंचाए गए. यहां अतीक ने शराब को डाइलूट (पतला) किया और अलग-अलग पाउच में भरकर पैकेट तैयार कर दिया. फिर शराब तस्कर फ्रांसिस और जेंटल के साथ मिलकर आसपास के इलाकों में इसकी सप्लाई की जिसे पीने के बाद मौतें शुरू हो गईं.

अतीक ने मुंबई क्राइम ब्रांच को वापी के एक केमिकल कारोबारी का नाम बताया है जिसके गोदाम में ज़हरीली शराब तैयार की गई थी. मालूम हो कि गुजरात देश के उन पांच राज्यों में शुमार है जिन्हें ड्राइ स्टेट के रूप में जाना जाता है.