न्यूयॉर्क. पीएम नरेंद्र मोदी के ‘स्वच्छ भारत’ के मिशन को पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी पूरा कर रही हैं. पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में शौचालय उपलब्ध कराने एवं उसके इस्तेमाल को बढ़ावा देने के अभियान को संयुक्त राष्ट्र में नवीन सार्वजनिक सेवाओं के क्षेत्र में पहला स्थान मिला है. आपको बता दें कि मोदी ने कहा था कि देश के हर घर में शौचालय होगा. लेकिन, शौचालय बनवाने से बंगाल बीजेपी शासित राज्यों से कहीं आगे है.

संयुक्त राष्ट्र ने ‘साबार शौचघर’ (सबके लिए शौचालय) परियोजना को पहला स्थान देने की घोषणा करते हुए कहा कि लोगों के बीच शौचालय के इस्तेमाल को लेकर जागरूकता फैलाने और साफ-सफाई के माध्यम से स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुधार लाने की ओर यह एक अनोखा मॉडल है. संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक एवं सामाजिक मामलों (यूएनडीइएसए) के लोक प्रशासन एवं विकास प्रबंध विभाग की तरफ से कोलंबिया के मेडेलिन में गुरुवार को यह पुरस्कार दिया गया.

यूएनडीईएसए के प्रभारी महासचिव वू होंगबु ने कहा,  ‘यह पुरस्कार उन नवाचारों को बढ़ावा देता है, जो दुनियाभर में कहीं भी लोगों का जीवन स्तर सुधारने और लोगों को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने में मदद करते हैं.’ उन्होंने कहा,  ‘यह पुरस्कार प्रभावी लोक शासन के सर्वश्रेष्ठ नमूनों को दुनिया के सामने लाने के लिए अंतरराष्ट्रीय मंच उपलब्ध कराता है.’