कोलकाता. मदर टेरेसा के बाद मिशनरीज ऑफ चैरिटी (एमओसी) की कमान संभालने वाली सिस्टर निर्मला का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वह 81 वर्ष की थीं. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने सिस्टर निर्मला के निधन पर शोक जताया. इस दुखद घटना की जानकारी खुद ममता ने ट्विट करके दी. सिस्टर निर्मला कोलकाता में मदर टेरेसा की उत्तराधिकारी थीं और मिशनरीज की सभी शाखाएं उनकी देखरेख में ही चल रही थी.

Saddened at the passing of Sister Nirmala who headed Missionaries of Charity after Mother Teresa. Kolkata and the world will miss her

— Mamata Banerjee (@MamataOfficial) June 23, 2015

2009 में लोगों की सेवा करने के लिए उन्हें देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान (पद्म विभूषण) दिया जा चुका है. रांची के एक ब्राह्मण परिवार में निर्मला जोशी के रूप पैदा हुईं सिस्टर निर्मला 17 वर्ष की उम्र में धर्म परिवर्तन के बाद मिशनरीज ऑफ चैरिटी से जुड़ गईं थी.