नई दिल्ली. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के साथ भारत की राजनीति में भी उबाल आ गया है. यहां योग को लेकर पक्ष-विपक्ष आमने-सामने हैं. सरकार जहां इसे मजहब और मुल्क से परे की बता रही है.

वहीं अल्संख्यकों के बीच योग में सूर्यनमस्कार को लेकर विवाद बना हुआ. ऐसे में यह सोचना चाहिए कि क्या योग को राजनीति हथियार का हथियार बनाया जा रहा है? या इसे सही में मन की शांति के लिए अपनाया जा रहा है. (वीडियो में जानिए योग से जुड़ा यह अभियान)