नवादा. बिहार विधानसभा चुनाव में भले ही अभी देरी हो, लेकिन केंद्र में सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं की जुबान अभी से फिसलने लगी है. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और बक्सर से सांसद अश्विनी चौबे ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को तीन उपाधियों से नवाजा- ‘इटली की गुड़िया’, ‘जहर की पुड़िया’ और ‘पूतना’. वहीं, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को उन्होंने ‘तोता’ कहा. 

नवादा के रजौली में भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बिहार के पूर्व मंत्री चौबे ने नाम लिए बगैर नीतीश कुमार और लालू प्रसाद की दोस्ती पर कटाक्ष करते हुए कहा, ‘बड़े और छोटे भाई पूतना की गोद में बैठकर जहर पीने के लिए छटपटा रहे हैं.’ 

लालू और नीतीश को ‘रंगा-बिल्ला’ कहा

गुरुवार की देर शाम उन्होंने लालू प्रसाद और नीतीश को ‘रंगा-बिल्ला’ बताते हुए कहा कि ये दोनों बीजेपी को सत्ता में आने से रोकने के लिए एक हुए हैं. हालांकि यह बात जगजाहिर है, लालू खुद कहते रहे हैं कि बीजेपी को रोकने के लिए उन्हें जहर भी पीना पड़े, तो वह इसके लिए तैयार हैं. सांसद चौबे ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ‘तोता’ उपाधि से नवाजा है.

केंद्रीय मंत्री गिरिराज ने भी दिया था बेतुका बयान

बिहार के ही सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अप्रैल महीने में हाजीपुर में सोनिया गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि अगर सोनिया गोरी चमड़ी वाली नहीं रहतीं तो न तो राजीव गांधी उससे ब्याह करते और न ही कांग्रेस उन्हें अध्यक्ष के रूप में स्वीकार करती. नरेंद्र मोदी के मंत्री गिरिराज ने इस नस्लवादी और रंगभेद वाली आपत्तिजनक टिप्पणी के लिए हालांकि बाद में खेद प्रकट किया था.

‘ऐसी बातें कहना का संस्कार बीजेपी के नेताओं में शुरू से’

अश्विनी चौबे के बयान पर बिहार कांग्रेस ने शुक्रवार को तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे बयान आपत्तिजनक हैं. बिहार प्रदेश कांग्रस के अध्यक्ष अशोक कुमार चौधरी ने कहा कि ऐसी बातें कहना का संस्कार बीजेपी के नेताओं में शुरू से ही है. ऐसे बयानों का राजनीति में कोई स्थान नहीं है. ऐसे बयानों की जितनी निंदा की जाए, कम है. (IANS)