नई दिल्ली. वसुंधरा राजे कल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिल सकती हैं. इससे पहले राजे की तरफ से आज इस बात का खंडन किया गया कि उन्हें मांगने के बावजूद बीजेपी अध्यक्ष से मिलने का समय नहीं मिला. वसुंधरा का दावा है कि उनके पक्ष में एकजुटता दिखाने कोई विधायक दिल्ली नहीं गया है. 
भगोड़े ललित मोदी से कनेक्शन सामने आने के बाद एक तरफ राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर कांग्रेस सड़कों पर उतर चुकी है, तो वहीं पूरा देश इस बात को लेकर हैरान है कि सुषमा की तरह वसुंधरा के लिए अब तक दिल्ली से कोई तर्क क्यों नहीं गढ़ा गया?

बीजेपी का कोई नेता वसुंधरा पर खुलकर नहीं बोलना चाहता तो कांग्रेस हमलावर है. सचिन पायलट ने आज वसुंधरा के खिलाफ सीधा हल्ला बोला, सुषमा स्वराज पर जब आरोप लगा था.तब बीजेपी, संघ और सरकार तीनों उनकी ढाल बनकर सामने आ गए लेकिन वसुंधरा राजे आरोपों की बौछार के बीच अकेली नज़र आ रही हैं.
इस बीच, खबर ये है कि कल अमित शाह से वसुंधरा राजे की मुलाकात हो सकती है. पंजाब में आनंदपुर साहिब के 350 साल पूरे होने पर स्थापना दिवस समारोह मनाया जा रहा है. जिसमें कल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के अलावा गृहमंत्री राजनाथ सिंह और हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के साथ वसुंधरा राजे भी मौजूद रह सकती हैं. माना जा रहा है कि इस मुलाकात के बाद वसुंधरा को लेकर पार्टी अपना रुख तय कर सकती है.