दिल्ली. अकेली महिला यात्री की सुरक्षा को लेकर विवादों से घिरी फोन एप्प वाली टैक्सी सर्विस ऊबर अपने बेड़े में गाड़ियां बढ़ाने पर फोकस कर रही है. कंपनी ने फेसबुक पर एड देकर टैक्सी मालिकों से उसके नेटवर्क को ज्वाइन करने कहा है.

ऊबर कंपनी के तहत चलने वाली एक कार के ड्राइवर पर करीब छह महीने पहले एक महिला के साथ रेप का आरोप लगा. कुछ दिन पहले ही गुड़गांव की एक युवती के साथ कंपनी की कार के ड्राइवर ने बदसलूकी की.

मुंबई में कुछ दिन पहले काली-पीली टैक्सी इन एप्प वाली कार कंपनियों के विरोध में हड़ताल पर गई थीं तो ऊबर कैब्स ने मुसाफिरों से पांच गुना तक ज्यादा किराया वसूला.