फतेहपुर: उत्तरप्रदेश में अपराध कई सालों से लगातार तेजी से बढ़ता जा रहा है. हाल ही में यूपी के फतेहपुर जिले से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. एक इंटरमीडियट छात्र को अगवा करके जिंदा जला दिया और उसके बाद खुदखुशी का रुप देने के लिए उसे पेड़ पर लटका दिया.
 
घटना फतेहपुर जिले के गाजापुर थाने के गम्भरी गांव की है. वहां के एक निवासी जुगल किशोर सैनी दवाखाने में काम करते हैं. उनका 18 वर्षीय बड़ा बेटा प्रशांत उर्फ सुखलाल पास के शाखा इंटर कॉलेज में इंटर का छात्र था.
 
क्या है पूरा मामला
छात्र 15 नवंबर से संदिग्ध हालात में गायब हो गया था. काफी खोजबीन करने के बाद भी जब छात्र का कोई सुराग नहीं लगा तो गमजदा पिता ने 18 नवंबर को थाने जाकर गुमशुदगी दर्ज करा दी थी.
 
गुरुवार को ग्रामीणों की नजर बिल्लू की नजर बाग में पड़ी तो छात्र प्रशांत सैनी का शव महुआ के पेड़ पर रस्सी से फांसी पर लटक रहा था, लेकिन उसके शरीर में डीजल पड़ा होने के साथ दोनों पैर जले हुए थे. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की.
 
मृतक का शव देखकर उसकी मां सियावती, भाई अभिषेक व पिता रो-रोकर बेहाल रहे. गमजदा पिता जुगलकिशोर सैनी ने आरोप लगाया कि उसके बेटे को अगवा करके डीजल तेल से जलाकर मारा गया है और आत्महत्या का रूप देने के लिए शव को फांसी पर लटका दिया गया है. ये भी कहा कि उसकी गांव में किसी से कोई रंजिश नहीं थी.
 
जांच कर रहे एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कि शव बरामद कर पोस्टमार्टम हाउस भेजा गया है. छात्र के दोनों पैर जले हुए थे. तहरीर मिल गई है इसलिए गुमशुदगी के दर्ज मुकदमे को हत्या में तब्दील किया जा रहा है. कहा कि शव काफी सड़ चुका है, जिससे पता चलता है कि यह घटना काफी पुरानी है.