लखनऊ :  उत्तर प्रदेश में 1400 ऐसे लोगों के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई है जिन्होंने 8 नवंबर के बाद खातों में एक करोड़ या ज्यादा रुपया जमा कराया है. इस जांच के दौरान चौंकाने वाले मामले सामने आ रहे हैं.
 
जिसमें लखनऊ के ही एक ज्वैलर्स के यहां 11.87 करोड़ रुपए की गड़बड़ी पाई गई है और गाजीपुर में परचून की दुकान चलाने वाले शख्स के जन-धन खाते में 27 लाख रुपए जमा कर दिए गए हैं.
 
जनता-अधिकारी सब परेशान
एक ओर आम जनता परेशान है कि खाते में ढाई लाख से ज्यादा आए तो हिसाब देना पड़ेगा. वहीं आयकर विभाग के अधिकारियों के माथे पर पसीना छूट रहा है कि इतने खातों की जांच कैसे करें बड़ी मात्रा में गड़बड़ी खबरें आ रही हैं.
 
ज्वैलर्स का खेल देखिए
लखनऊ के जिस ज्वैलर्स कालेधन को सफेद करने का शक उसने बैक डेट से यानी 2 नवंबर से बढी बिक्री दिखाई है. ज्वैलर्स ने करोडों का सोना बेच डाला लेकिन उसके पास खरीददारों का कोई ब्यौरा नहीं मिला. इतना ही नहीं 2 लाख रुपए से कम की बिक्री दिखाई है जिसमें पैनकार्ड और आईडी की जरूरत भी नहीं पड़ती है. 
 
कितना होगा जुर्माना
अगर जांच के बाद साबित हो गया कि ज्वैलर के पास काला धन है तो उसको 85 फीसद तक जुर्माना देना पड़ेगा.