पटना: गुरुवार शाम को पटना एयरपोर्ट पर 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट के 1.20 करोड़ रुपये बरामद किए गए हैं. हैरानी की बात ये है कि ये रकम दो विदेशियों के पास से बरामद की गई है. ये दोनों थाइलैंड के नागरिक हैं और इंडिगो की फ्लाइट से पटना पहुंचे थे. खबर मिलते ही आयकर अधिकारी भी एयरपोर्ट पहुंच गए हैं. विदेशियों के पास से इतनी बड़ी नगदी की जब्ती खतरे की घंटी है.

पटना एयरपोर्ट के अधिकारियों को इस इंडिगो फ्लाइट की लैंडिंग से पहले ही इंटेलीजेंस को खबर मिल चुकी थी. उन्हें बताया गया था कि इस फ्लाइट से आने वाले दो विदेशी यात्रियों के पास काफी पुराना नोट है. ऐसे में फ्लाइट के लैंड करते ही जांच शुरू हुई और उनके पास से 1.20 करोड़ रुपये बरामद किए गए. इतनी बड़ी रकम की बरामदगी से कई सवाल उठ खड़े हुए हैं.
 
उठते हैं कई सवाल
पहला सवाल यह है कि गिरोहबाजों ने पुराना नोट खपाने के लिए क्या विदेशियों को भी अपने सिंडिकेट में शामिल किया है. वजह यह कि दूसरा कोई कारण थाइलैंड के नागरिकों के पास से इतनी बड़ी राशि मिलने की और कोई वजह नहीं दिख रही है.
 
प्रथम दृष्टया तो यही लग रहा है कि विदेशी नागरिक को कैरियर इसीलिए बनाया गया, क्योंकि कोई शक-सुबहा ना हो. दूसरा सवाल यह भी है कि इतनी बड़ी राशि फ्लाइट से पटना क्यूं लाई जा रही थी. निश्चित तौर पर विदेशियों द्वारा पटना लायी गई इस राशि का कोई ना कोई दूसरा रिसीवर होता, जो आगे का काम करता होगा. 
 
जांच में लगे अधिकारी भी मान रहे हैं कि पटना एयरपोर्ट की बरामदगी यह संकेत दे रहे हैं कि पटना में किसी दूसरे रास्ते से ब्लैक मनी को खपाने का खेल चल रहा है. इसके माध्यम कई हो सकते हैं. गहन जांच शुरू हो गई है.