नई दिल्ली. राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के बेटे दुष्यंत और ललित मोदी की कंपनी के बीच लेन-देन की भी ख़बरें सामने आ रही हैं. इस बारे में राजस्थान हाईकोर्ट में पूनम चंद भंडारी नाम के एक वकील ने एक पीआईएल दाखिल की थी. ललित मोदी की कंपनी ने दुष्यंत की कंपनी में 9 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए. 

पूनम चंद भंडारी ने आरोप लगाया था कि ललित मोदी की कंपनी आनंद हेरिटेज ने वसुंधरा राजे के बेटे दुष्यंत की कंपनी निशांत होटल में शेयर खरीदे. दुष्यंत और उनकी पत्नी को 10 रुपये के हिसाब से शेयर मिले. ललित मोदी की कंपनी को 98,000 रुपये के हिसाब से शेयर मिले. प्रवर्तन निदेशालय इस मामले की जांच कर रहा है.

इस बीच एक ख़बर यह भी है कि जिस पुर्तगाल के अस्पताल में ललित मोदी की पत्नी का इलाज हुआ था, उस अस्पताल से जुड़ी फांउडेशन ने राजस्थान सरकार के साथ अस्पताल खोलने के लिए एक समझौता किया गया है. पीपीपी मोड के तहत राजस्थान सरकार ने यह समझौता अक्टूबर 2014 में किया था. अस्पताल के लिए प्रताप नगर में 5 बीघा ज़मीन भी सरकार ने दे दी है, लेकिन निर्माण का काम अब तक शुरू नहीं हो सका है.