मुंबई. मुंबई में ‘स्वाभिमान यूनियन’ से जुड़े ऑटोरिक्शा और टैक्सी चालक द्वारा बुलाई गई एक दिन की हड़ताल का फायदा उठाकर उबर ने मोटा पैसा बनाया. दरअसल ‘स्वाभिमान यूनियन’  ने  उबर, ओला, मेरू प्लस इत्यादि जैसे मोबाइल एप्लिकेशन आधारित कैब के चलने पर रोक की मांग की थी. इसका नतीजा यह हुआ कि उबर ने सड़क पर टैक्सी ना होने का फायदा उठाकर यात्रियों से मुंहमांगे किराया वसूल किया.

जहां प्राय उबर 5 किमी की दूरी के लिए यात्रियों से 150 रुपए लेती है हड़ताल वाले दिन उबर ने 750 रुपए यात्रियों से वसूले. सोशल मीडिया पर उबर की इस सरेआम लूट पर कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिली. लोगों ने जमकर उबर को इसके लिए कोसा जा रहा है.