मुंबई. महाराष्ट्र भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने महाराष्ट्र सदन घोटाले में शामिल नौ आरोपियों के आवासों पर दो दिन तक छापे मारे. महाराष्ट्र सदन घोटाले में कथित संलिप्तता को लेकर एनसीपी के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल समेत अन्य लोगों पर मामला दर्ज किये जाने के बाद शुक्रवार और शनिवार को तलाशी की कार्रवाई की गयी.

एसीबी ने एक बयान में कहा कि औरंगाबाद संभाग के सूचना आयुक्त डी बी देशपांडे के अलावा सरकारी कर्मचारियों देवदत्त मराठे, बिपिन सांखे, गजानन सावंत, माणिक बी शाह, संजय सोलंकी, अनिल गायकवाड़, अरण देवधर और हरीश पाटिल के आवासों पर तलाशी ली गयी. एसीबी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने अपनी तलाशी में मिली संपत्तियों और कीमती सामान को जब्त नहीं किया है, हमने इसका नोट बनाया है और साक्ष्य के तौर पर इसे अदालत में रखेंगे.’’
 
बयान के मुताबिक तलाशी के दौरान एसीबी को देशपांडे के पांच फ्लैट मिले जिनमें एक-एक ठाणे और औरंगाबाद में तथा बाकी पुणे में मिले. वक्तव्य के अनुसार एसीबी को यह भी पता चला कि देशपांडे के पास औरंगाबाद में चार प्लॉट हैं और नासिक तथा औरंगाबाद में दो-दो दुकानें हैं. उनके पास औरंगाबाद में पांच हेक्टेयर का खेत भी है.
 
बयान के अनुसार इसके अलावा देशपांडे के तीन बैंक खातों में 50 लाख रूपये नगदी के अलावा 1.53 किलोग्राम सोना, 27 किलोग्राम चांदी और 2.68 करोड़ रपये के बांड मिले हैं. अन्य कर्मचारियों के भी स्वामित्व वाली संपत्तियों और कीमती वस्तुओं का पता चला हैं.

IANS