शिमला: हिमाचल प्रदेश में अब निजी स्कूलों में टीचर छात्रा को अकेले नहीं बुला पाएंगे. अगर कोई शिक्षक छात्रा को बुलाना चाहता हैं तो उस छात्रा के साथ कोई और छात्रा भी होगी. अकेली छात्रा को टीचर अब ट्यूशन भी नहीं पढा सकेंगे. 
 
वीरभद्र सरकार ने इस फैसले को बच्चियों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर लिया है. इस बात का आदेश हिमाचल प्रदेश के शिक्षा विभाग ने सभी स्कूलों को दे दिया है. कोई भी शिक्षक अगर किसी छात्रा से बातचीत करना चाहता है तो उसे कमरे का दरवाजा हमेशा खुला रखना होगा.
 
कमरे का दरवाजा बंद करके वह छात्रा से बात नहीं कर सकते. छात्र को बुलाने वाले शिक्षक या छात्रा जिस शिक्षक के पास पढने जा रही है अगर दो शिक्षक भी होंगे तो भी छात्रा को अकेले नहीं बुलाया जा सकता है. 
 
बता दें कf प्रदेश में यौन शोषण के मामले लगातार बढते जा रहे हैं और आए दिन लड़कियों के साथ छेड़खानी भी हो रही है. इसी को ध्यान में रखकर सरकार ने बच्चियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया है. शिक्षकों के भी बच्चियों के साथ छेड़छाड़ करने के मामले सामने आते रहते हैं. कुछ छात्राएं तो डर के वजह से स्कूल भी नहीं जा रहीं हैं.