जींद. सूर्य नमस्कार का विरोध करने वालों को देश से बाहर करने की पैरवी करते हुए देवा फाउंडेशन की अध्यक्ष साध्वी देवा ठाकुर ने कहा कि योग से ओम और सूर्य नमस्कार हटवाना मोदी सरकार की अब तक की सबसे बड़ी नाकामी है. उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार ने चंद गैर हिन्दू लोगों को खुश करने के लिए जो यह कदम उठाया है, वह वास्तव में देश से धोखा है. सरकार के इस फैसले से करोड़ों हिन्दू और संत समाज आहत है.’’ 

ठाकुर ने कहा, ‘‘जो मुस्लिम लोग ओम और सूर्य नमस्कार का विरोध कर रहे हैं उन्हें भारत से बाहर खदेड़ देना चाहिए. भारत की संस्कृति ना मानने वालों को देश में रहने का अधिकार नहीं है.’’ उन्होंने कहा कि हिन्दुत्व के मुद्दे पर बनने वाली मोदी सरकार अब हिन्दुत्व के मुददों को लेकर बैकफुट पर है. साध्वी ठाकुर ने कहा कि 21 जून को सरकार देश में योग दिवस मना रही है और मोदी सरकार ने मुस्लिम धर्मगुरूओं को खुश करने के लिए योग से ओम और सूर्य नमस्कार हटवा दिया. यह बहुत ही दुर्भागयपूर्ण है.
  
साध्वी ने कहा, ‘‘यदि योग में शामिल ओम शब्द से धर्मांतरण होता है तो जिन मुस्लिम देशों में योग किया जाता है वहां की पूरी जनसंख्या ही हिन्दू हो गयी होती. यह केवल कुछ मुस्लमानों की छोटी सोच का नतीजा है कि वे भारत में रहकर भारत की संस्कृति का विरोध करते हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार के इस फैसले से भारत के सभी हिन्दुओं और संतो को ठेस पंहुची है. इस तरह के फैसले लेने के बाद कांग्रेस और भाजपा में कोई फर्क नहीं रह गया है.’’ साध्वी ठाकुर ने मोदी सरकार से इस फैसले को तुरंत बदलने की मांग की है.