शिमला. हिमाचल प्रदेश सरकार बंदरों के उत्पात से कितना परेशान है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसने बंदरों को मारने या पकड़ने पर 1000 रुपये का ईनाम घोषित किया है. सरकार ने शनिवार को प्रदेश के 37 जिलों में बंदरों को हिंसक जानवर घोषित कर दिया है.
 
राज्य के वन मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी ने कहा कि राज्य के जिन जिलों में बंदरों को हिंसक जानकर की श्रेणी में रखा गया है उन्हें मारने पर 500 रुपए का ईनाम मिलेगा. इससे पहले यह राशि 300 रुपए थी. बंदरों की नसबंदी करने की राशि को 500 से बढ़ाकर 700 किया गया है और यदि कोई एक टोली के 80 फीसदी बंदरों को पकड़ता है तो उसे 1000 रुपए का ईनाम मिलेगा.
 
भरमौरी ने आगे कहा कि जिन जिलों में बंदरों को हिंसक घोषित किया गया है वहां के पंचायत स्तर पर गठित ग्रामीण वन विकास व संयुक्त वन प्रबंधन समितियों को बंदरों की समस्या पर कार्यशाला आयोजित करने के लिए 1000 रुपए की राशि प्रदान की जाएगी. इससे पहले सरकार बंदरों की नसबंदी पर 20 करोड़ रुपए खर्च कर चुकी है लेकिन परिणाम जस के तस ही हैं. इसलिए सरकार ने यही पैसा बंदरों को पकड़ने पर लोगों पर खर्च करने को सोचा है.