रायपुर. छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले की पुलिस ने गैंगरेप के एक मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. पिरडा गांव की एक महिला के साथ तीन युवकों ने गैंगरेप किया था. घटना के समय महिला शौच के लिए जा रही थी. बताया जा रहा है कि पीड़िता बलोदाबाजार-भाटापारा जिले के एक प्राइवेट स्कूल में रसोइया के तौर पर काम करती है. पुलिस ने महिला की शिकायत पर तीन में से दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. फरार आरोपी बसना मंडल के पूर्व मंडल महामंत्री और भाजपा नेता जसबीर सिंह सलूजा का बेटा बताया जा रहा है.
 
बता दें कि 11 अक्टूबर की रात 36 साल की महिला शौच के लिए घर से बाहर जंगल में गई थी. इसी दौरान पहले से घात लगाकर बैठे तीनों आरोपी मोहम्मद अली, देवेंद्र चौधरी और प्रिंस सलूजा ने महिला को कार में अगवा कर लिया. पीड़िता को जंगल में ले जाकर उसके साथ झगरेनडीह गोडमर्रा के जंगलों में गैंगरेप किया. इस दौरान आरोपियों ने महिला के गैंगरेप की वीडियो भी बना ली. आरोपियों का इससे ही मन नहीं भरा तो उन्होंने पीड़िता के प्राइवेट पार्ट में रॉड डालकर महिला को लहूलुहान कर जंगल में ही छोड़ दिया.
 
सुबह महिला के परिजनों को पीड़िता बेहोशी की हालत में मिली, जिसके बाद लोगों ने उसे हॉस्पिटल पहुंचाया. पुलिस ने मुख्य आरोपी और बीजेपी के नेता की कार जब्त कर ली है. गैंग रेप में स्थानीय भाजपा नेता के शामिल होने तथा उसके फरार होने के खिलाफ लोगों ने शुक्रवार बसना थान में जमकर प्रदर्शन किया. लोगों ने भाजपा नेता के पुत्र की गिरफ्तारी की मांग की.
 
महासमुंद में हुए गैंगरेप के मामले ने प्रदेश में एक बार फिर कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दिया है. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने घटना को लेकर एक और निर्भया के साथ शर्मनाक घटना बताया. बघेल ने भाजपा की सरकार को मौज-मस्ती में डूबी सरकार बताते हुए स्वयं न्याय की लड़ाई लड़ने की बात कही है.