नई दिल्ली. मोदी सरकार ने भले ही मुसलमानों के विरोध को देखते हुए योग दिवस पर सूर्य नमस्कार की अनिवार्यता खत्म तो कर दी हो, लेकिन बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ अड़ गए हैं. उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार कोई भी निर्णय ले, लेकिन हम सूर्य नमस्कार अवश्य कराएंगे. योगी ने कहा कि जिन्हें इससे परहेज है वो समुद्र में डूब जाए या अंधेरी कोठरी को ठिकाना बना लें.  

आदित्यनाथ ने मुसलमानों के विरोध का मुद्दा उठाते हुए कहा, विश्व के 163 देश योग दिवस का समर्थन कर रहे हैं. इन देशों में 45 मुस्लिम देश भी शामिल है जब उन्हें योग से कोई समस्या नहीं है तो फिर भारत के मुसलमानों को इसमें क्या आपत्ति है.  

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने किया योग दिवस का विरोध

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने 21 जून को मनाए जाने वाले योग दिवस के खिलाफ अभियान चलाने का फैसला लिया है. यह फैसला रविवार की रात लखनऊ में बोर्ड की वर्किंग कमेटी की बैठक में लिया गया. बोर्ड ने योग को गैर-इस्लामी करार दिया है. बोर्ड ने ऐलान किया है कि एक पैनल बनाकर बच्चों को जागरूक बनाया जाएगा कि किस तरह सूर्य नमस्कार और योग इस्लाम की भावना के खिलाफ है. 

हालांकि, केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने साफ-साफ कहा है कि 21 जून के योग दिवस पर सूर्य नमस्कार न कभी था और न है.