कोटा. राजस्थान का कोटा डॉक्टर और इंजीनियर बनने का सपना रखने वालों के लिए पढ़ाई और कोचिंग का केंद्र है, लेकिन पिछले कुछ सालों में यहां पर कोचिंग करने वाले छात्रों के सुसाइड करने के मामलों में भी इजाफा हुआ है. ऐसी ही एक और घटना फिर सामने आई है, जहां मेडिकल एंट्रेंस की कोचिंग कर रहे अमन ने हैंगिंग ब्रिज से चंबल में छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली.
 
राधेपुर बिहार का रहने वाला अमन कुमार गुप्ता ने गुरुवार को हैंगिंग ब्रिज से खुदकुशी कर ली. कुछ लोगों को इसकी जानकारी लगी तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंच कर कार्रवाई की और मृतक के परिजनों को सूचना दी. बता दें कि आत्महत्या के कारणों का अब तक पता नहीं चला है.
 
खुदकुशी करने से पहले दोस्त को किया था फोन
अमन ने खुदकुशी करने से पहले अपने एक दोस्त को फोन करके कहा था कि वह अब जा रहा है. उसने अपने बारे में अपने माता पिता को जानकारी देने के लिए भी कहा था.
 
बता दें कि उसने खुदकुशी करने से पहले फोन ऑफ भी कर दिया था और कोटा में जहां वह रहता था उस मकान की छत के ऊपर उसने फोन छोड़ दिया था, इस बात की जानकारी उसने अपने दोस्त को फोन करके दी थी. 
 
पापा से कहा- छोटे भाई को पढ़ाएं
अमन ने सुसाइ़ड करने से पहले मोबाइल में एक वीडियो रिकॉर्ड किया था, जिसमें उसने अपने माता पिता के नाम संदेश छोड़ा था. वीडियो में अमन ने कहा, ‘मैं बहुत आगे जाना चाह रहा था, लेकिन अब नहीं होगा. मेरे दोस्तों ने सबने मेरी बहुत मदद की मेरी, लेकिन मैं नही कर पाया.’
 
अमन ने अपने छोटे भाई के लिए कहा, ‘छोटा भाई होनहार है, उसको अच्छे से पढ़ाना. पापा ने मेरा बहुत साथ दिया है हमेशा मेरा बहुत स्पोर्ट किया, लेकिन मैं यहां पढ़ नही पाऊंगा. मुझे मरने के बाद जलाईगा नहीं. मैं बहुत गलत हूं.’