वाराणसी. वैसे तो हाथी को शाही सवारी के रूप में माना जाता है लेकिन जब यही सवारी अपना आपा खो देती है तो लोगों के लिए बड़ी मुसीबत का सबब बनने में देरी नहीं लगती. वाराणसी में भी इस तबाही का नजारा लोगों को देखने को मिला.
 
वाराणसी की गलियों में हाथी ने जमकर उत्पात मचाया और दुकानों में खूब तोड़फोड़ की है, हालांकि अभी तक किसी के घायल होने की खबर नहीं आई है. 
 
कई बार असफल होने के बाद कई महावतों ने मिलकर आखिरकार हाथी को पकड़ लिया और उसके पैरों में रस्सी और जंजीर से बांधकर काबू किया. वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शी अरविंद ने बताया कि हाथी को भागते देख लोग अपने वाहन, ठेला और दुकान भी छोड़कर भागने लगे. हाथी सभी वाहनों को कुचलते हुए आगे बढ़ने लगा.
 
अरविंद ने बताया कि हाथी ने दो ऑटो रिक्शा और कई वाहनों को तोड़ दिया. हाथी ने चौराहे पर होने वाले भरत मिलाप के लिए बनाए गए स्टेज और अन्य सामानों को उठाकर ही फेंक दिया. साथ ही हाथी बिजली के खम्‍भों को भी तोड़ दिया.