नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के कालकाजी इलाके से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक 90 साल का बुजुर्ग व्यक्ति अपनी पत्नी की लाश के साथ रह रहा था. पड़ोसियों के बताने पर उसे पता चला कि पत्नी मर चुकी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पड़ोसियों ने पुलिस को इसकी जानकारी दी और फिर पत्नी के मृत शरीर को रिश्तेदार के हवाले किया गया. बुजुर्ग का मानसिक संतुलन ​बिगड़ा होने की बात की जा रही है. इसी कारण उसे पता ही नहीं चला कि पत्नी मर चुकी है.
 
पुलिस के मुताबिक बुजुर्ग गोविंद राम जेठानी अपनी पत्नी गोपी जेठानी के साथ रहता था. दोनों की कोई औलाद नहीं है. गोविंद राम करीब 60 साल पहले एक निजी कंपनी से रिटायर हुए थे. बुजुर्ग दंपत्ति का आसपास के लोगों से खास मेलजोल नहीं था. पड़ोसियों को उनके नाम तक पता नहीं थे, वे उन्हें अंकल-आंटी कहते थे. 
 
खर्चा चलाना होता था मुश्किल
पड़ोसियों के अनुसार बुजुर्ग दंपत्ति अपने घर में किसी को नहीं आने देते थे. घर के दरवाजे और खिड़की भी कम ही खोला करते थे. रविवार को राम जेठानी ने अपने पड़ोसी को बुलाकार कहा कि उनकी पत्नी कुछ दिनों से उनकी बात का जवाब नहीं दे रही है. तब यह पता चला कि उनकी पत्नी की मौत काफी पहले ही हो चुकी है. 
 
इस दंपत्ति की उनकी आर्थिक स्थिति भी बहुत खराब थी. उनका रिश्तेदार नरेंद्र ही उनके घर आता था और पोस्ट ऑफिस में जमा उनके पैसों दे देता था। इसी से उनका खर्चा चलता था.