बीकानेर. देश भर में दशहरा के अवसर पर कई जगहों पर रामलीला का आयोजन किया जाता है. रामलीला के लिए कलाकारों को कई तरह के स्टंट किए जाते हैं और इसके लिए उन्हें इस स्टंट के लिए बकायदा ट्रेनिंग भी दी जाती है लेकिन धन्नाराम जाट की किस्मत खराब थी जिसकी वजह से उसके साथ हादसा हो गया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
30 साल से स्थानीय रामलीला में हनुमान की भूमिका निभाने वाले धन्नाराम जाट 50 फीट की ऊंचाई से गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गए. उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई. बीकानेर के तहसील मुख्यालय के पास हनुमान मंदिर के पास हनुमान मंदिर के पास स्थित रामलीला मैदान में रामलीला का मंचन चल रहा था.
 
वह रामलीला मंचन के दौरान लक्ष्मण की जान बचाने के लिए संजीवनी बूटी लेने जाने के एक सीन को परफॉर्म कर रहे थे, उसी दौरान उनके साथ यह हादसा हो गया. इस सीन में जब वह रस्सी के सहारे उड़ने के एक स्टंट को कर रहे थे उसी दौरान उनका संतुलन बिगड़ गया और वह 50 फीट की ऊंचाई से गिर गए और बुरी तरह घायल हो गए. उनके हाथ में एक जलती हुई मशाल भी थी जिससे कि वह दर्शकों को नजर आ सकें.