मुम्बई. बोरीवली के संजय गाँधी नेशनल पार्क में एक 13 साल के रॉयल बंगाल टाइगर की मौत हो गयी. उसका नाम पलाश था. वह पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहा था जिसके कारण कल उसकी मौत हो गयी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
संजय गाँधी नेशनल पार्क के डॉक्टर शैलेश पेठे ने बताया कि पलाश के गुर्दे काम नहीं कर रहे थे. उसने चार दिन से खाना-पीना भी छोड़ दिया था. जिसके कारण उसके बचने की सम्भावना बहुत कम थी. डॉक्टर पेठे ने आगे बताया कि रॉयल बंगाल टाइगर की औसत उम्र 16 साल की होती है. उम्र बढ़ने के साथ टाइगरों के गुर्दे काम करना बंद कर देते है. जिसके कारण वह खाना-पीना छोड़ देते है और उनकी मौत हो जाती है.
 
पलाश ‘बाजिराओ’ के बाद पार्क में दूसरा सबसे उम्रदराज शेर था. हाल ही में महाराष्ट्र का वन विभाग पेंच के टाइगर रिजर्व से दो रॉयल बंगाल शेरनियों ‘बिजली’ और ‘मस्तानी’ को पार्क में ले कर आया था. पलाश के नहीं रहने के बाद पार्क में सिर्फ सात शेर बचे हैं. जिनमे से चार रॉयल बंगाल शेरनियां और तीन नर शेर हैं.