अलवर. अंधविश्वास के कारण अपनी बड़ी बेटी की मुश्किलें दूर करने चले एक परिवार ने छोटी बेटी को ही मुसीबत में डाल दिया. परिवार ने बिना सोचे समझे बेटी को 10 दिनों तक तांत्रिक के हवाले कर दिया. तांत्रिका उसे जंगल में ले जाकर उससे दुष्कर्म करता रहा. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
यह घटना राजस्थान के अलवर जिले की है. यहां के कुतकपुरा गांव का एक परिवार मुंशी नाम के एक ढ़ोंगी तांत्रिक से मिला. परिवार ने तांत्रिक को बड़ी बेटी के जीवन से जुड़ी परेशानियां बताईं और समाधान के लिए पूछा.
 
इसके बाद तांत्रिक का उनके घर पर आना-जाना होने लगा. तांत्रिक की नजर परिवार में 15 साल की बेटी पर पड़ी. ​फिर उसने अपने नापाक इरादों को पूरा करने के लिए परिवार को झांसे में लिया.
 
तांत्रिक ने परिवार को कहा कि वे बड़ी बेटीं की मुसीबतें दूर के लिए छोटी बेटी को उसके साथ भेज दें. परिवार ने उस पर भरोसा करके 14 सितंबर को छोटी बेटी को उसके साथ भेज दिया. परिवार यही सोचता रहा कि बड़ी बेटी ठीक हो जाएगी.
 
नौ दिन बाद पकड़ा गया
लेकिन, छोटी बेटी का इंतजार करते-करते एक हफ्ता बीत गया. जब उसका कुछ पता नहीं चला तो परिवार ने थाने में उसके गायब होने की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने जांच शुरू की तो लड़की को ले जाने के 10वें दिन तांत्रिक के अलवर के जंगल में जाने का पता चला। पुलिस जब जंगल में गई, तो वहां एक खंडहर में आरोपी पकड़ा गया। वहीं पर नाबालिग लड़की भी मिल गई. 
 
पूछताछ में लड़की ने बताया कि तांत्रिक ने उसके साथ 10 दिनों तक रेप किया। पुलिस ने बताया कि यह तांत्रिक मुंशी खान पहले भी कई मामलों में आरोपी है. वह कभी 5 दिन और रात साइकिल चलाकर लोगों को हैरान करता है, तो कभी जमीन में गड्ढा खोद समाधि लेकर वापस बाहर निकल आने की बात कहता है। कई लोग इससे प्रभावित होकर तांत्रिक के जाल में फंस जाते हैं.