हरिद्वार. राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी नेताओं के बीच शब्दों की जंग के बीच, स्वामी शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने अपने बयान से सबको हैरान कर दिया है. शंकराचार्य ने कहा है कि बाबरी मस्जिद गिराना कारसेवकों की सबसे बड़ी गलती थी.

शंकराचार्य ने ‘कारसेवकों’ को दोष देने से कहानी को एक अलग मोड़ दे दिया. उन्होंने कहा कि बीजेपी को राममंदिर मुद्दे को संसद में पास करने के बजाय, इस केस को न्यास को सौंप देना चाहिए और उन्हें मंदिर का पुनर्निर्माण करने देना चाहिए.

इससे पहले शंकराचार्य अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहे थे. उन्होंने साईं बाबा को मुस्लिम और साईं भक्तों को मूर्ख बताया था. उन्होंने साईं की पूजा बंद करने को भी कहा था. शंकराचार्य के इस बयान को लेकर खासा विवाद पैदा हो गया था.

IANS