आज मुकेश अम्बानी के रिलायंस जिओ के खिलाफ अनिल अम्बानी के आरकॉम ने एयरसेल से  हाथ मिला लिया. इस बारे में जानकारों का मानना है कि ग्राहकों के आधार के लिहाज से यह अब देश की तीसरी बड़ी टेलिकॉम कम्पनी हो जाएगी. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बताया जा रहा है कि इसके ग्राहकों का आधार 19.90 करोड़ तक होगा. रिलायंस के जिओ के लांच के बाद ही आरकॉम और एयरसेल के विलय की ख़बरें आने लगी थी. 
 
बता दें कि अगस्त में ही दोनों कम्पनियां विलय की शर्तों पर सहमति बना चुकी हैं. इसके अनुसार तकनीकी तौर पर कारोबारी विलय को पूरा होंने में करीब चार से छः महीने का वक्त लगेगा.